कौमी पत्रिका

विशेष रिपोर्ट : गुरचरन सिंह बब्बर

नई दिल्ली 11 नवम्बर : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के नेताओं ने पिछले कई वर्षों से लगातार दिल्ली कमेटी में भारी घोटाला किया है, इस मामले में दिल्ली से गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष सरदार मनजिंदर सिंह सिरसा ,पूर्व अध्यक्ष सरदार मंजीत सिंह जीके तथा पूर्व जनरल सेक्टरी सरदार गुरमीत सिंह शंटी समेत कई अन्य लोगों के खिलाफ लगातार नामजद लिखित शिकायतें और F.I.R लिखी जा रहीं हैं और लिखी गई है, दिल्ली पुलिस के कई थानों के साथ-साथ दिल्ली पुलिस का आर्थिक प्रकोष्ठ( Economic Offence Department) भी काफी सक्रिय हो गया है।

सरदार मनजिंदर सिंह सिरसा, सरदार मनजीत सिंह जीके, सरदार गुरमीत सिंह शंटी

इस भारी घोटाले को लेकर, दिल्ली की पटियाला कोर्ट व अन्य कोट्स के इलावा मामला दिल्ली हाईकोर्ट में भी पहुंच गया है। दिल्ली कमेटी में काम करने वाले हमारे विश्वसनीय सूत्रों ने बताया है, कि कमेटी के पद अधिकारियों ने सब्जी खरीदारी में बोगस बिलों के आधार पर लाखों रुपया हड़प लिया है, गुरुद्वारों में लंगर के लिए राशन के बोगस बिल बना कर मोटी रकम लूट ली है, सहायता के नाम पर फर्जी पर्चियां बना कर मोटी रकम का घोटाला किया है, टेंटों के बोगस बिल बनाकर लाखों रुपया डकार गए हैं। इस वरिष्ठ पत्रकार को दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में काम करने वाले बड़े सीनियर सूत्र ने बताया है, कि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में किताबें छपवाने के नाम पर लाखों रुपयों के बोगस बिल बनाकर गुरु घर की गोलक से मोटी रकम लूट कर, अपने घर ले गए हैं और इसके साथ-साथ देश-विदेश में रहने वाले श्रद्धालु सिखों द्वारा भेजा गया भारी दान भी हड़प लिया गया है, जिसके कारण, दिल्ली सिख गुरुद्वारा कमेटी के मौजूदा व पूर्व सभी पद अधिकारी इस घोटाले में शामिल होने की वजह से कटघरे में खड़े हो गए हैं।

अब दिल्ली पुलिस सहित कई सरकारी एजेंसियां इस मामले की जांच कर रहीं हैं और दूसरी तरफ अदालतों के अंदर भी यह घोटाला का मामला कई नेताओं की गर्दन को पकड़ सकता है।इस वरिष्ठ पत्रकार को विश्वस्थ सूत्रों ने बताया है कि एक TOP SECRET शिकायत सीबीआई सहित कई जांच एजेंसियों को भेजकर मांग की गई है, कि दिल्ली से गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मौजूदा पद अधिकारी व पूर्व पद अधिकारियों की करोड़ों रुपयों की नामी व बेनामी संपत्ति की फौरन जांच की जाए तथा इनके साथ जुड़े हुए इनके दोस्तों, रिश्तेदारों तथा बच्चों की भी संपत्ति की जांच की जाए जिससे साबित हो जाएगा कि इनके पास भारी धन, ज़मीनें, कोठियां , बड़ी कारें, बैंक लॉकर, बैंक बैलेंस, सब गुरु घर का लूटा हुआ माल है। सूत्र बता रहे हैं कि जैसे-जैसे कानूनी शिकंजा इन की गर्दन की तरफ बढ़ रहा है वैसे-वैसे उपरोक्त दिल्ली सिख गुरुद्वारा कमेटी के सभी भ्रष्ट नेता, बड़े वकीलों के पास भाग दौड़ कर रहे हैं और अपने राजनीतिक आकाओं के दर पर दस्तक दे रहे हैं। आने वाले दिन दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के नेताओं के लिए अच्छे नहीं हैं।

Related posts

पिछले दो दिनों से रोजाना आने वाले नए मरीजों की संख्या 300 से ज्यादा

एपीएसईज़ेडको सीएसआर गतिविधियों के लिए राष्ट्रीय जल पुरस्कार मिला

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए दूसरे चरण का मतदान जारी है। इसी बीच, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तीसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार करने मधुबनी के हरलाखी पहुंचे

Leave a Comment