कौमी पत्रिका
News Uttar Pradesh उत्तरप्रदेश राष्ट्रीय लखनऊ समाचार

योगी आदित्यनाथ की आलोचनाओं को लेकर BJP में चिंता, UP विधानसभा चुनाव से पहले ‘फीडबैक’ अभियान

banner

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले राज्य में बीजेपी की बैठकों का सिलसिला तेज हो गया है. मीटिंगों का यह दौर संकेत देता है कि पार्टी कोविड संकट से निपटने को लेकर सीएम योगी की आलोचना को लेकर चिंतित है. दिल्ली से लखनऊ पहुंचे दो बीजेपी नेता, बीएल संतोष और केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह सोमवार से शुरू हुई ‘फीडबैक ड्राइव’ के तहत उत्तर प्रदेश के मंत्रियों से मुलाकात कर रहे हैं. पार्टी संगठन में महासचिव बीएल संतोष और सिंह प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ और दोनों उपमुख्यमंत्रियों के साथ मुलाकात करेंगे. हालांकि इस बीच सूत्रों ने उन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है, जिसमें चुनाव से पहले सीएम योगी और दोनों उपमुख्यमंत्रियों को पद से हटाने की बात कही गई थी.

 

पार्टी के द्वारा जारी बयान के अनुसार दोनों बीजेपी नेता प्रदेश में कोविड काल के दौरान पार्टी द्वारा किए गए राहत कार्यों की समीक्षा कर रहे हैं. पिछले कुछ हफ्तों में योगी सरकार द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से विरोधियों के दावों पर जोरदार पलटवार किया जा रहा है, बताते चलें कि कोविड काल में विपक्ष ने योगी सरकार के नाकाम होने के आरोप लगाते हुए दावा किया था प्रदेश सरकार के उदासीन बर्ताव के कारण दूसरी लहर में यूपी में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई.

लखनऊ से 80 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में एक भाजपा विधायक ने पिछले हफ्ते कहा था कि उनके जैसे विधायकों की वास्तव में कोई गिनती नहीं है और मीडिया को बहुत सारे बयान उनके खिलाफ ‘देशद्रोह’ का मामला बन सकते हैं. विधायक राकेश राठौर से जब सालों से बंद ट्रामा सेंटर को दोबारा चलाने के प्रयासों पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि विधायकों की हैसियत ही क्या होती है, अगर मैं ज्यादा बोलूंगा तो मेरे खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो जाएगा.

Related posts

UP में Yogi Sarkar देगी साधु-संत, पुरोहितों और पुजारियों को Salary

सशस्त्र बलों को फिर से संगठित करना सर्वोच्च प्राथमिकता: अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी

चीनी बॉर्डर पर भारतीय सेना होगी और मजबूत ?

Leave a Comment